Uncategorized

वाह कमाल: बिहार के युवा ने स्टार्टअप के जरिए विदेशों में दिलायी सत्तू को पहचान 

पटना: गर्मी के दिनों में सत्तू का सेवन बहुत से लोग करते हैं, विशेष रूप से बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश के क्षेत्रों में सत्तू काफी लोकप्रिय रहा है।झारखंड में सत्तू से कई स्वादिष्ट व्यंजन बनते हैं, जिसमें लिट्टी चोखा, पराठा देश भर में मशहूर है। सत्तू को इतना पसंद इसलिए किया जाता है क्योंकि यह पौष्टिक होने के साथ ही इसका स्वाद बेहद अलग और अनमोल होता है।

आज हम बिहार के एक ऐसे शख्स के बारे में जानेंगे जिसने अपनी नौकरी छोड़ कर सत्तू को दुनिया भर में पहुचाने को अपने जीवन का लक्ष्य बना लिया और इसका स्टार्टअप शुरू किया। इस शख्स ने मुंबई में अपनी अच्छी खासी नौकरी को छोड़कर सत्तू को लोगों के बीच फेमस करने के लिए बिहार में एक अनोखा स्टार्ट शुरू किया।

हम बात कर रहे हैं बिहार के मधुबनी जिले के रहने वाले सचिन कुमार की, जिन्होंने सत्तू को देश-विदेश में पहचान दिलाने के लिए एक स्टार्टअप की शुरुआत साल 2018 में की और इसका नाम रखा ‘सत्तुज’

इसके बाद वह सत्तू की सही प्रोसेसिंग करने के लिए एक विशेष ट्रेनिंग भी किये, जिससे उन्हें प्रोडक्ट के बारे में सही चीजों की जानकारी हो गई।

इसके बाद उन्होंने अपना प्रोडक्ट तैयार किया और FSSAI सर्टिफिकेट लिया। इसके बाद वह सत्तू को नया रूप देने के लिए उसकी पैकेजिंग को आकर्षक बनाने पर काम किए क्योंकि उनका मानना था कि बच्चों और युवाओं के लिए यह काफी बोरिंग लगता है इसलिए उन्होंने अपने प्रोडक्ट को बाकी ड्रिंक प्रोडक्ट की तरह पैक किया जैसे कि फ्रूटी इत्यादि पैकेजिंग आती है।

फ्लेवर के लिए उन्होंने तीन फ्लेवर का इस्तेमाल किया जलजीरा, स्वीट और चॉकलेट। आज वह इसका ₹20 की सैशे से लेकर ₹120 का डिब्बा उपलब्ध करवा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button