BiharCrime News

ये कैसा शराबबंदी ! शराब तस्करी को रोकने गए दरोगा की ह’त्या, नीतीश कुमार को केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा…

Desk : बिहार में शराबबंदी के बाद भी तस्करों के हौंसले बुलंद हैं । शराब माफिया खुलेआम शराब की सप्लाई करते हैं । वहीं बेगूसराय से एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां शराब की खेप पकड़ने गई पुलिस टीम पर तस्करों ने हमला बोला है । जिसके बाद घटनास्थल पर ही मौत हो गई है इस घटना में एक होमगार्ड भी गंभीर रूप से घायल हो गया है ।
हालांकि, यह घटना बेगूसराय जिले के नावकोठी थाना क्षेत्र में स्थित छतौना पुल के पास की है। नावकोठी थाने के एक दरोगा खमास चौधरी को सूचना मिली कि कार से शराब की बड़ी खेप आने वाली है। शराब की खेप को पकड़ने के लिए पुलिस टीम भी मुस्तैद हो गई है और दरोगा ने अपनी टीम के साथ छतौना पुल के पास चेकिंग शुरू कर दी।
शराब तस्करों ने पुलिस टीम पर किया हमला

पुलिस ने शराब से भरी कार को रोकने की कोशिश की तो तस्करों ने अपनी गाड़ी की स्पीड बढ़ा दी और सड़क पर खड़े दरोगा और होमगार्ड के एक जवान को कुचल दिया। बाकी पुलिस कर्मियों ने इधर-उधर भागकर अपनी जान बचाई। शराब माफिया के हमले में एसआई खमास चौधरी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, होमगार्ड के घायल जवान को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां डॉक्टरों की निगरानी में उनका इलाज चल रहा है।

इस घटना के बाद पुलिस ने अपनी जांच बढ़ाते हुए छापा मारा और कार के मालिक को हिरासत में ले लिया , लेकिन अभी तक कार नहीं मिली है। पुलिस कार और शराब की खेप को लेकर गाड़ी मालिक से पूछताछ कर रही है। इस घटना को लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कही कि,शराबबंदी क़ानून की गलत नीतियों का खमियाजा जनता भुगत रही ।नीतीश कुमार सर्वदलीय बैठक बुलाएँ पुनर्विचार करें। शराब माफिया का मनोबल बढ़ा है।बेगूसराय में ASI को शराब माफिया ने कुचल कर मार डाला। नीतीश कुमार भी गलत फैसले को लेकर क़ानून का शिकंजा कसना चाहिए।

Related Articles

Back to top button