Biharbreaking newsबड़ी खबर ।

मुजफ्फरपुर में दर्दनाक हादसा, घर में घुसकर अनियंत्रित ट्रक ने 12 लोगों को रौंदा, 5 बच्चे समेत 6 की मौत

मुजफ्फरपुर में भीषण सड़क हादसे में 5 छोटे-छोटे बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि दुर्घटना में घायल ट्रक चालक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. दुर्घटना में 6 लोग घायल हैं, जिन्हें एसकेएमसीएच में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. घटना सरैया थाना इलाके के सहदानी गांव की है. इस दर्दनाक दुर्घटना में एक साथ पांच बच्चों की मौत की वजह से इलाके में चीख-पुकार मची हुई है. बच्चों की मौत से आक्रोश की संभावना को देखते हुए सरैया पुलिस इलाके में कैंप कर रही है. जानकारी के मुताबिक, मुजफ्फरपुर से छपरा की ओर एक ट्रक जा रही थी. बीती रात 8:30 बजे ट्रक अनियंत्रित होकर एनएच 722 के किनारे गांव में बने एक घर में घुस गई. यह घर ग्रामीण लच्छू पासवान का है.

बताया जा रहा है कि लच्छू पासवान के घर के आंगन में उनका परिवार एवं आसपास के कई परिवारों के बच्चे खेल रहे थे. उसी वक्‍त अनियंत्रित ट्रक ने सबको कुचल दिया. 4 बच्चों ने तो मौके पर ही दम तोड़ दिया था, जबकि एक की मौत इलाज के लिए ले जाने के दौरान रास्ते में हो गई. दुर्घटना में ट्रक का ड्राइवर भी घायल हो गया, जिसे सरैया पीएचसी में भर्ती कराया गया. बाद में  उसने भी दम तोड़ दिया. लच्छू पासवान के घर में ट्रक घुसने के बाद आसपास के बड़ी संख्या में लोग जुट गए. ट्रक के नीचे भी एक बच्चे का शव दबा हुआ था, जिसे देखकर माहौल और भी गमगीन हो गया था.

घटना के तुरंत बाद सरैया पुलिस दल बल के साथ मौके पर पहुंची और क्रेन मंगाकर ट्रक को हटाया गया. उसके बाद नीचे दबे शव को निकाला गया. पुलिस ने सबसे पहले घायलों को स्थानीय लोगों की मदद से सरैया पीएचसी भेजा जहां से उन्हें एसकेएमसीएच रेफर कर दिया गया. वहीं, सभी मृतकों के शवों को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. डीएम प्रणव कुमार के निर्देश पर सरैया सीओ रात में ही मौके पर पहुंच गए. इन परिवारों को आपदा राहत के तहत अनुग्रह राशि देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. मरने वाले बच्चों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. एक साथ पांच बच्चों की मौत से पूरा इलाका दहला हुआ है. पोस्टमार्टम के बाद आक्रोश बढ़ने और हंगामा की आशंका जताई जा रही है. इसे देखते हुए सरैया पुलिस मौके पर कैंप कर रही है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button