Bihar

युवक ने मां के नाम लिखी चिट्ठी, कहा- मुझे माफ करना, मैं मौत को गले लगाने जा रहा हूं

The India Top: जब लोग अपनी जिंदगी से परेशान होने लगते हैं तो कुछ भी सही-गलत समझ नहीं पाते। बिहार में पश्चिम चंपारण से एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां नगर के हरदिया चौक निवासी प्राथमिक विद्यालय चांदपुर के प्रभारी प्रधान शिक्षक प्रदीप कुमार ने जिंदगी से तंग आकर सुसाइड नोट लिखी है। उसने अपनी मां और भाई के लिए चार पेज की एक चिट्ठी लिखी है, जिसमें उसने अपने सारे दर्द बयां किये हैं। 24 घंटे से शिक्षक लापता है, जिसके भाई व मां मामले में कुछ भी बताने से मना कर रहे हैं।

चिट्ठी में चांदपुर के देवशरण और अनवर का जिक्र किया गया है, जिससे शिक्षक ने कर्ज ले रखी है। चिट्टी में लिखा है कि देवशरण गाड़ी लेने के लिए फाॅर्स कर रहा है। लेकिन उसे गाड़ी नहीं देना है। क्योंकि गाड़ी बेचने को लेकर कोई कागज नहीं बना है। इसके अलावा चिट्ठी में लिखा है कि उसने चांदपुर के अनवर से भी कर्ज ले रखी है और वह भी लगातार पैसे के लिए दवाब बना रहा है।

चिट्ठी पढ़कर ऐसा प्रतीत होता है कि शिक्षक ने सुसाइड करने की कोशिश की थी, लेकिन उसके भाई दीपक ने उसकी जान बचा ली। शिक्षक को अपनी मां से मिलने की ख्वाहिश है। उससे मिलने के लिए हीं गोरखपुर से घर आया था। लेकिन घर आने पर पता चला कि उसकी मां घर पर नहीं है। युवक ने अपनी मां से मुलाक़ात नहीं होने पर अफ़सोस व्यक्त किया है और लिखा है कि आप कभी- कभी गोरखपुर भी जाइएगा। मेरे बच्चे आपसे मिलना चाहते हैं।

शिक्षक ने बताया है कि वह कर्ज में डूबा हुआ है, जिसके कारण वह काफी परेशान है। इसीलिए वह अपनी जिंदगी समाप्त करना चाहता है। 24 घंटे से शिक्षक की कोई खोज-खबर नहीं है, जिसको लेकर उसके भाई दीपक कुमार ने शिकारपुर थाने में आवेदन दिया है। उसने यह भी लिखा है कि मौत के लिए द्रोपदी (शिक्षक की पत्नी) को दोषी मत समझना। वह खुद परेशान रहती है, रात की ड्यूटी करती है और सुबह में बच्चों को तैयार कर स्कूल भेजती है, फिर स्कूल से लाती है। बताया जाता है कि लापता शिक्षक की पत्नी गोरखपुर में नर्स है।

चिट्ठी में शिक्षक ने लिखा है, मेरे मौत के बाद किसी को नहीं बुलाया जाए। आर्यसमाज विधि से मेरा अंतिम संस्कार कर देना। मामले में लापता शिक्षक के भाई दीपक कुमार ने थाने में आवेदन दिया है। मामले को लेकर थानाध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि लापता शिक्षक प्राथमिक विद्यालय चांदपुर का प्रधान शिक्षक है। उसने घर छोड़ने के पहले अपनी मां से बात की थी। फिलहाल उसके मोबाइल को पुलिस के कब्जे में रखा गया है। मामले की जांच जारी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button