BiharCrime News

पुलिस जीप ने बाइक सवार को कुचल कर हुआ फरार, CCTV से खुलासा… 5 दरोगा…

Desk : बिहार पुलिस की एक शर्मनाक करतूत उजागर हुई है। बीती 31 दिसंबर की रात खगौल रोड पर हुई सड़क दुर्घटना में बाइक सवार दो युवक की मौत मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस गश्ती गाड़ी ने बाइक को टक्कर मारी थी जिससे दोनों की मौत हुई थी। टक्कर के बाद घायलों की मदद करने के बजाय पुलिसकर्मी वाहन लेकर फरार हो गए थे।

वरीय पुलिस अधिकारी के आदेश पर हुई जांच में घटना की सच्चाई का पता चला तो इसी हफ्ते गश्ती गाड़ी पर सवार दारोगा सहित पुलिस कर्मियों पर केस दर्ज किया गया था। वहीं, एएसपी दीक्षा ने रविवार को आरोपित दारोगा वरुण कुमार सिंह व चालक के अलावा तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है।

बता दें कि 31 दिसंबर की रात लखनीबिगहा निवासी अमित कुमार, खगौल के नेउरा कालानी निवासी शिवम मंडल और उनके दोस्त अमित बाइक से डीजे खोलने जा रहे थे। तभी खगौल रोड के विजय विहार कालोनी मोड़ के समीप बोलेरो और युवकों की बाइक के बीच जोरदार टक्कर हो गई थी। इस दुर्घटना में अमित कुमार और शिवम मंडल की मौके पर ही मौत हो गई थी। उधर घटना के बाद चालक बोलरो लेकर फरार हो गया था। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आस-पास के सीसीटीवी का फुटेज को देखा लेकिन सही से जांच नहीं की थी। पुलिस वाहन होने के कारण आरोपितों को बचाने के लिए पुलिसकर्मी मामले की लीपापोती में जुट गए थे।

मृतक के परिजनों ने खुद खंगाले सीसीटीवी

मृतक के परिजनों ने टक्कर मारने वाले वाहन की पहचान के लिए खुद प्रयास किया। उन्होंने घटना स्थल पर जाकर निजी घरों में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला तो पता चला कि गाड़ी पुलिस की थी। बाद में गाड़ी की तलाश में इलाके के थानों का चक्कर लगाना शुरू कर दिया था। इस दौरान पीड़ित परिवार वालों ने गश्ती गाड़ी को शाहपुर थाने में लगा पाया। उन्होंने उस वाहन का वीडियो बना लिया था। युवकों के श्राद्धकर्म के बाद परिजनों ने वरीय पुलिस पदाधिकारी के सामने गुहार लगाई। इसके बाद मामले की जांच के आदेश दिए गए। गश्ती वाहन में मौजूद पुलिसकर्मियों पर केस और कार्रवाई की अनुशंसा की गई।

क्या कहते हैं अधिकारी

शाहपुर थाना में गश्ती दल के पदाधिकारी व जवान के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है। इसके साथ तत्काल सभी को निलंबित कर दिया गया है। उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई चल रही है। कांड की नए सिरे से जांच की जा रही है। -दीक्षा, एएसपी दानापुर

Related Articles

Back to top button