Bihar

नीतीश सरकार ने अवैध शराब और बालू माफियाओं को पैदा किया : प्रशांत किशोर

Desk : जन सुराज के सूत्रधार प्रशांत किशोर ने बंदी के बावजूद बिहार में शराब के अवैध व्यापार को लेकर बड़ा खुलासा किया है । आपको बता दें कि, प्रशांत किशोर ने कहा कि, अवैध शराब के कारोबार में युवा लड़कों के साथ लड़कियां भी लगी हुई हैं । शराबबंदी से करोड़ों रुपये का नुकसान हो रहा है ।

बिहार में दो उद्योगों की बात हर कोई कर रहा है । एक है शराब माफिया और दूसरा है बालू माफिया । जहां चले जाइए, आप देखेंगे कि इस सरकार ने शराब का अवैध कारोबार करने वाले लोगों को पैदा किया है । शराब बंदी के नाम पर शराब की दुकानें बंद कर दी, लेकिन घर-घर होम डिलीवरी चालू कर दी है । मोटरसाइकिल लेकर शराब के इस कारोबार में नए लड़के, युवा के साथ-साथ लड़कियां भी लगी हुई हैं । कई गांवों के लोग मुझसे बताते हैं कि, लड़कियां भी इस अवैध कारोबार में लगी हुई हैं ।

इससे हर साल बिहार सरकार और बिहार के लोगों को शराबबंदी के कारण 20 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है । ये पैसा पुलिस के हाथ में, प्रशासन के हाथ में और शराब माफिया के हाथ में जा रहा है।

बिहार में शराब माफिया के साथ बालू माफिया हैं काफी ताकतवर : प्रशांत किशोर

प्रशांत किशोर ने जन संवाद के दौरान आगे कहा कि बिहार के गांव-गांव में एक और नई समस्या शुरू हो गई है। जब लोगों को शराब नहीं मिल रही है, तो लोग अलग-अलग प्रकार का नशा कर रहे हैं। कोई स्मैक खा रहा है, तो कोई ड्रग्स ले रहा है। ये स्थिति पहले बिहार में नहीं थी। शराब माफिया के साथ बालू माफिया बिहार में काफी ताकतवर हैं। जहां जाइए, बिहार में बड़े स्तर पर अवैध बालू का कारोबार हो रहा है। हजारों-करोड़ों रुपए सरकार और बिहार के लोगों का चोरी करके पुलिस और प्रशासन की मदद से अवैध बालू का कारोबार बिहार में चल रहा है।

Related Articles

Back to top button