Biharpoliticsबड़ी खबर ।

‘मुख्यमंत्री’ की बादशाहत सिर्फ 1-अण्णे मार्ग में, शिवानंद तिवारी ने CM नीतीश की तुलना बहादुर शाह ‘जफर’ से की

राजद अपने स्थापना का रजत जयंती मना रहा है। पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद ने दिल्ली से वर्चुअल माध्यम से 25 वें स्थापना दिवस कार्यक्रम का उदघाटन किया। वहीं पटना के प्रदेश कार्यालय में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव समेत अन्य नेता मौजूद रहे। पार्टी की स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में राजद नेताओं ने अपने संकल्प को दुहराया और केंद्र और बिहार की सरकार पर अटैक किया। राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तुलना मुगलों के अंतिम शासक बहादुर शाह जफऱ से की।

राजद स्थापना दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार को हम जानते हैं। वे बहुत ही तेज आदमी हैं। 2014 को याद कीजिए जब वे नरेंद्र मोदी का बखूबी चरित्र-चित्रण करते थे। आज क्या स्थिति है…उनकी जी हुजूरी कर रहे हैं। आज लोकतंत्र खतरे में है,मीडिया पर बैन लगा दिया गया है। बिना मीडिया की स्वतंत्रता के लोकतंत्र नहीं चल सकता। शिवानंद तिवारी ने आगे कहा कि आज हमें नीतीश कुमार पर हंसी आती है। आज की तारीख में मुगलों के अंतिम शासक बहादुर शाह जफऱ की याद आती है। तब उनकी बादशाहत लाल किले में कैद थी। नीतीश कुमार का शासन सिर्फ एक अणे मार्ग में चलती है। न इनकी बात मंत्री मानते हैं न अफसर। सिर्फ एक-अणे मार्ग में मुख्यमंत्री की बादशाहत है। इसीलिए बहादुर शाह जफर की याद आती है। शिवानंद तिवारी ने कहा कि आज बिहार की क्या स्थिति है। मंत्री के घर में अफसरों के ट्रांसफऱ की बोली लग रही है। जो अधिक बोली लगाता है उसे पोस्टिंग मिलती है। हर विभाग में यही स्थिति है। वहीं कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अब्दुल बारी सिद्दकी ने कहा कि स्थापना दिवस के दिन पार्टी को जेल भरो आंदोलन का निर्णय लेना चाहिए। क्यों कि महंगाई ने लोग त्राहिमाम कर रहे हैं। हर कोई परेशान है। ऐसे में राजद इस इश्यू को जोर-शोर से उठाये। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button