BiharBJPpolitics

बिहार में 29 दिसंबर को सियासी भूचाल ! क्या ललन को आउट करेंगे नीतीश ?, रामनाथ ठाकुर संभालेंगे JDU की बागडोर !

Desk : बिहार में 2024 में लोकसभा चुनाव को लेकर सियासी भूचाल शुरू हो गया है । आपको बता दें कि, ललन सिंह को आउट करने की बता सामने आ रही है, जिसको लेकर आज आपको इस बारे में बताने जा रहा हूं, कि आखिरकार क्या सच में ललन सिंह को सत्ता से बाहर किया जाएगा । आपको बता दें कि, 29 दिसंबर को जनता दल यूनाइटेड की राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राष्ट्रीय परिषद की बैठक होने वाली है । तो वहीं, ललन सिंह शायद बाहर भी होने वाले हैं । नीतीश कुमार 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी अध्यक्ष का पद संभालेंगे । बता दें कि, राजधानी दिल्ली में आयोजित INDIA गठबंधन की चौथी बैठक के बाद बिहार में सियासी अटकलें तेज हो गई हैं । वहीं कहा जा रहा है कि, राज्य में अगले कुछ दिनों में सियासी उथल-पुथल शुरू हो सकता है ।

हालांकि, नीतीश कुमार जब दिल्ली से लौटे तो उसके बाद जेडीयू ने 29 दिसंबर अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राष्ट्रीय परिषद की बैठक एक साथ बुलाने का ऐलान कर दिया । लेकिन ये भी कहा जा रहा है कि, बैठक में राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह को जेडीयू पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से हटाया जाएगा । बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, जिनके पास वर्तमान में कोई संगठनात्मक पद नहीं है, तो वह जेडीयू के अध्यक्ष का पदभार संभाल सकते हैं । हाल के दिनों में ललन सिंह की लालू यादव के साथ करीबी बढ़ी है । फिलहाल, जेडीयू में 2 संभावनाएं बन रही हैं । जिसमें से एक यह है कि, पार्टी में किसी भी तरह की टूट से बचने के लिए या तो नीतीश खुद पार्टी अध्यक्ष बन सकते हैं, या फिर दूसरी संभावना ये है कि, नीतीश किसी ऐसे अन्य नेता को भी पार्टी अध्यक्ष नियुक्त कर सकते हैं । लेकिन इससे पार्टी में असंतोष पैदा हो सकता है । सूत्रों के मुताबिक खबर ये भी है कि, नीतीश कुमार ललन सिंह के कामकाज के तरीके और खासकर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव से उनकी बढ़ती नजदीकियों से नाराज हैं ।

बिहार के राजनीतिक गलियारों में ये भी चर्चा है कि, ललन सिंह 2024 का लोकसभा चुनाव फिर से मुंगेर से लड़ने के इच्छुक थे, जहां से वह वर्तमान में जेडीयू सांसद हैं । इतना ही नहीं वह राजद के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं । सियासी हलकों में ऐसी अटकलें हैं कि, नीतीश कुमार और ललन सिंह सहित पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं से नाराज हैं । क्योंकि इन्होंने बैठक के दौरान नीतीश की राष्ट्रीय महत्वाकांक्षाओं को सही तरीके से इंडिया गठबंधन के नेताओं के समक्ष नहीं रखा था । वहीं 29 दिसंबर को जब जनता दल यूनाइटेड की राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राष्ट्रीय परिषद की बैठक होगी तो, ललन सिंह शायद बाहर हो जाएंगे । आपको बता दें कि, नीतीश कुमार 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी अध्यक्ष का पद संभाल सकते हैं । खास बात तो यह है कि, ललन सिंह अगर नीतीश कुमार किसी और को भी पार्टी अध्यक्ष नियुक्त करते हैं तो, जिसमें जनता दल यूनाइटेड के सांसद रामनाथ ठाकुर का नाम सामने आ रहा है ।

Related Articles

Back to top button