BiharpoliticsViral
Trending

राजद नेता को जदयू ने कहा करैत सांप। तेजस्वी ने भी दी नसीहत।  

राजद नेता के बयान से जदयू ने किया किनारा।

बिहार सरकार में शिक्षा मंत्री और राजद नेता चंद्रशेखर ने धर्म विशेष पर विवादित टिप्पणी की है। राजद नेता ने रामायण की तुलना पोटैसियम सायनाइड से की है। इससे पहले भी चंद्रशेखर हिन्दु धर्म को लेकर भड़काऊ बयान दे चुके हैं। लेकिन इस बार राजद नेता के सहयोगी जदयू नेताओं ने मोर्चा खोल दिया है। बयान की आचोलना की जा रही है। बिहार के डिप्टी सीएम और राजद नेता तेजस्वी यादव ने चंद्रशेखर को फटकार लगाई है। तेजस्वी ने कहा कि उन्हें मंत्रालय के काम पर ध्यान देना चाहिए। इस तरह के बयान से धर्म का अपमान नहीं करना चाहिए।

राजद नेता का होगा करैत जैसा हाल।

JDU के विधायक संजीव कुमार राजद नेता चंद्रशेखर को करैत सांप बताया है। जदयू विधायक ने कहा कि ऐसे लोग समाज के करैत सांप हैं। यह अपने बयान से समाज में जहर घोलने का काम कर रहे हैं। इनका भी वही हाल होगा जो करैत सांप का होता है। इनके बयान को कोई सिरीयसली नहीं ले रहा है। इन्हें शिक्षा पर ध्यान देना चाहिए तो यह अनाप-शनाप बयान देने में लगे हैं। इनकी सोच छोटी और नीची सोच हैं, नहीं सुधरेंगे तो जनता चुनाव में सुधार देगी। राजद नेता समाज को बांटने वाला बयान दे रहे हैं।

JDU प्रवक्ता ने बयान पर जताई आपत्ति!

शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर के बयान से जदयू ने किनारा कर दिया है। पार्टी की तरफ से कहा गया कि जदयू धर्म विरोधी धारणाओं के विरुद्ध है।जिनको रामचरितमानस में पोटेशियम साइनाइड दिखता वो अपनी विचारधारा खुद तक सीमित रखें। इसे पार्टी या INDIA गठबंधन पर थोपने की कोशिश ना करें। जदयू ने कहा कि उनकी पार्टी सभी धर्म और  धार्मिक ग्रंथों का सम्मान करती है। मीडिया में बने रहने के लिए कुछ लोग आस्था के विरूद्ध बयान देते हैं।

हिन्दू धर्म को लेकर विवादित बयान पर इंडिया गठबंधन इससे पहले भी निशाने पर रही है। इंडिया गठबंधन से जुड़े तमिलनाडू के डीएमके नेता ने भी विवादित बयान दिया ।

डीएमके नेता ने सनातन के विरुद्ध क्या कहा था?

बीते दिनों तमिलनाडू के सीएम एम. के स्टालिन के बेटे ने भी हिन्दू धर्म के विरूद्ध बोला था। डीएमके नेता उदयनिधि स्टालिन ने कहा था कि सनातन धर्म को समाज से खत्म कर देना चाहिए। स्टालिन ने कहा था कि क्या सनातन के कारण सामाजिक बुराइयां बढ़ती हैं। सनातन लोगों को जाति और धर्म के नाम पर बांटती है। यह कोरोना, डेंगू और मलेरिया के समान है, इसलिए इसे पूरी तरह खत्म करना होगा। स्टालिन के इस बयान के बाद मीडिया ने पूछा की क्या आप अपने बयान पर माफी मांगेंगे। स्टालिन ने अपने बयान को लेकर माफी मांगने से इनकार कर दिया। स्टालिन ने कहा कि जो मैंने पहले कहा उसपर कायम रहूँगा।

जदयू ने अचानक बुलाई बैठक। बैठक पर क्यों मचा हंगामा……………जानने के लिए नीचे दी गई खबर के लिंक पर क्लिक करें।

Related Articles

Back to top button