BiharBJPBreaking Newspolitics

बिहार में हो सकता है खेला ! फ्लोर टेस्ट में पास नहीं हो पाएंगे नीतीश कुमार ?

Desk : बिहार में सियासी हलचल और तेज होती जा रही है. 12 फरवरी को होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले राज्य में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है. बिहार में सत्ता गंवाने वाले महागठबंधन के दूसरे सबसे बड़े घटक दल कांग्रेस ने खरीद-फरोख्त की आशंका के बीच अपने कुछ विधायकों को हैदराबाद शिफ्ट कर दिया है.वहीं, एनडीए के अंदर भी कुछ दलों के नाराज होने की खबर है. हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के अध्यक्ष और पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने दो मंत्री पद की मांग की है. उन्होंने कहा, ‘हमने दो पद मांगे हैं. इसी की बात हुई थी. इसे लेकर गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की है. उन्होंने कहा कि मुश्किल है पर देखते हैं.’

बिहार में राजनीति गरमाई

जीतन राम मांझी की मांग को लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) चिराग पासवान का भी समर्थन है. उन्होंने कहा, ‘क्या बात हुई है ये तो मुझे नहीं पता, लेकिन अगर उन्हें बोला गया था तो उस बात का सम्मान किया जाना चाहिए. भले ही उनके विधायककम हों, लेकिन इस परिस्थिति में अहम हैं.’

कांग्रेस ने विधायकों को भेजा हैदराबाद

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस ने तीन विधायकों को छोड़कर सभी विधायकों को रविवार को हैदराबाद भेज दिया. सूत्रों के अनुसार, ये विधायक 10 फरवरी तक हैदराबाद में रहेंगे और फिर फ्लोर टेस्ट में हिस्सा लेने के लिए 11 फरवरी को वापस बिहार लौटेंगे.

बिहार विधानसभा में कांग्रेस के 19 विधायक हैं. हालांकि विधायकों के हैदराबाद जाने पर पार्टी का कहना है कि वे तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी को बधाई देने गए हैं. जिन्होंने दिसंबर 2023 में हुए तेलंगाना विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत के बाद मुख्यमंत्री का पदभार संभाला था.


बिहार कांग्रेस अध्यक्ष ने क्या कहा?

बिहार कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश सिंह कहा, ‘नई सरकार बनी है, हम सभी यहां पहुंचे हैं, मुख्यमंत्री से मिलेंगे, उन्हें बधाई देंगे.’ आरजेडी नेता और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने भी खेला होने की बात कही है. उन्होंने कहा, ‘खेल तो अभी शुरू हुआ है. अब खेला होगा.’

बिहार विधानसभा का गणित

बिहार के नेताओं के इन दावों और सियासी सरगर्मी के बीच अब समीकरण पर भी नजर डालते हैं. 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा में एनडीए गठबंधन में 128 विधायक हैं. जिनमें सबसे ज्यादा बीजेपी के 78, जेडीयू के 45, जीतनराम मांझी की पार्टी हम के 4 और एक निर्दलीय विधायक हैं.विपक्ष के पास हैं कितने विधायक?

विधानसभा में बहुमत के लिए 122 का जादुई आंकड़ा छूना जरूरी है. विपक्ष के पास कुल विधायकों की संख्या 114 है जिसमें सबसे ज्यादा 79 विधायक आरजेडी के हैं. 19 विधायक कांग्रेस के, सीपीआई (एम-एल)+सीपीआई+सीपीआई (एम) के 16 विधायक हैं. बहरहाल, अब देखना होगा कि 12 फरवरी को सीएम नीतीश कुमार फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित कर पाते हैं या नहीं.।

Related Articles

Back to top button