National

विकास पथ पर बिहारः लग रहे उद्योग, बढ़ रहा रोजगार

बिहार ने किस क्षेत्र में कितनी की तरक्की
फल उत्पादन- देश में सातवां स्थान
सब्जी उत्पादन- देश में तीसरा स्थान
मछली उत्पादन- देश में चौथा स्थान
दुध उत्पादन – देश में आठवां स्थान
मांस उत्पादन – देश में नौवां स्थान
शहद- देश में दसवां स्थान

बिहार ने खाद्य पदार्थों और अनाजों के उत्पादन में निरंतर वृद्धि करके खुद को इस क्षेत्र में आत्मनिर्भर राज्य के रूप में स्थापित किया है। बिहार ने रोजगार के अवसरों के वृद्धि के लिए राज्य में औद्योगिक विकास की दिशा में तेजी से कार्य किया है। निवेशकर्ताओं को लालफिताशाही से मुक्त कर राज्य में सभी प्रकार के उद्योगों के निर्माण एवं विकास के लिए सकारात्मक महौल बनाया गया जिसका परिणाम है कि वर्ष 2023 में अबतक 60 निवेश प्रस्ताव के माध्यम से 600 करोड़ के निवेश को मंजूरी मिल चुकी है।

विभिन्न सेक्टरों में मंजूर किए गए निवेश प्रस्ताव
सेक्टर आवेदनों की संख्या कुल प्रस्तावित निवेश
(करोड़ में)
राइस मील 19 103
खाद्य प्रसंस्करण 18 225
समान्य निर्माण 12 64.59
टेक्सटाइल उद्योग 2 42.20
अन्य उद्योग 9 122.32

किसी भी राज्य के विकास के लिए उद्योग की आवश्यकता है और उद्योग के लिए बिजली की। बिहार आज बिजली उत्पादन में सरप्लस वाला राज्य बन चुका है अर्थात् बिहार अपनी आवश्यकता से ज्यादा बिजली का उत्पादन करता है और शेष बिजली वो अन्य राज्यों को भी देता है। इन्हीं बदलावों के कारण आज बिहार का सकल घरेलु उत्पाद 10.98 % की दर से बढ़ रहा है। जो बताता है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार मिल रहा है।

Related Articles

Back to top button