National

कैसे लापता हुईं तीन साल में 13 लाख से भी ज्यादा औरतें और लड़कियां? आखिर कहां गईं गायब हुई लाखों बेटियां? MADHYA PRADESH और DELHI से गायब हुईं सर्वाधिक लड़कियां और औरतें।

देशभर में तीन वर्ष में 13.13 लाख से अधिक लड़कियां और महिलाएं लापता हुई। बीते सप्ताह संसद में केंद्रीय गृह मंत्रालय का एक चौंकाने वाला आंकड़ा प्रस्तुत किया गया। आंकड़े के अनुसार 2019 से 2021 के बीच 18 साल से अधिक की 10,67,648 महिलाएं गायब हुई। वहीं 18 से कम उम्र की 2,51,430 लड़कियां लापता हुई हैं।आंकड़ों के अनुसार सबसे अधिक मध्यप्रदेश से उसके बाद बंगाल से महिलाएं व लड़कियाँ गायब हुई। संसद में प्रस्तुत यह डाटा राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा इकठ्ठा किया गया है।

केंद्र शासित प्रदेशों में दिल्ली में लड़कियों और महिलाओं के लापता होने की संख्या सबसे अधिक रही। राष्ट्रीय राजधानी में 2019 और 2021 के बीच 61,054 महिलाएं और 22,919 लड़कियां लापता हो गई। वहीं जम्मू और कश्मीर में उक्त अवधि में 8,617 महिलाएं और 1,148 लड़कियों लापता हो गई।

क्या कहता है NCRB का आंकड़ा?

1.मध्यप्रदेश से कुल 1,60,160 महिलाएं गायब हुईं।
2.Madhya pradesh से 38,234 लड़कियां गायब हुईं।
3.पश्चिम बंगाल से गायब महिलाओं की संख्या 1,56,905 है।
4.West Bengal से गायब लड़कियों की संख्या 36,606 रही।
5.महाराष्ट्र से गायब महिलाओं की संख्या 1,78,400 रही।
6.Maharashtra से गायब लड़कियों की संख्या 13,033 रही।
7.उड़ीसा से गायब महिलाओं की संख्या 70,222 रही।
8.Odisa से गायब लड़कियों की संख्या 16,649 रही।

मोदी सरकार ने 22 जनवरी 2015 को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की शुरुआत की थी। योजना का उद्देश्य लड़कियों की शिक्षा और सुरक्षा देना था। योजना लागू करने के बाद बीजेपी सरकार ने इसका खूब प्रचार प्रसार भी किया। अपने सभी चुनावों में इसे उपलब्धि बताकर जनता से वोट भी मांगे गए। लेकिन प्रति वर्ष गायब हो रही बेटियों से जुड़े NCRB के आंकड़े डराने वाले हैं। यह आंकड़े बेटियों की सुरक्षा को लेकर किए जा रहे सरकारी प्रयासों की पोल खोल रहे हैं।

Related Articles

Back to top button