breaking news

अनंत सिंह को लेकर जेल प्रशासन ने उठाया बड़ा कदम, आम कैदियों की तरह रहना होगा

घर में एके 47 रखने के आरोप में 10 सजा मिलने के बाद मोकामा से राजद विधायक अनंत सिंह की परेशानी और बढ़ गई है। सजा मिलने के बाद बेऊर जेल भेजे गए अनंत सिंह की देखभाल के लिए रखे गए दोनों सेवादारों को हटा दिया गया है। अब उन्हें जेल के दूसरे कैदियों की तरह यहां रहना होगा, साथ ही कैदियों को जो भोजन दिया जाता है, वही भोजन उन्हें भी उपलब्ध कराया जाएगा.

बता दें कि मोकामा विधायक बेऊर जेल में अब तक विचाराधीन बंदी के रूप में थे। जिसके कारण जेल के नियम पूरी तरह उन पर लागू नहीं होते थे। साथ ही वह विधायक भी थे, जिसके कारण उन्हें दो सेवादार भी उपलब्ध कराए गए थे। सेवादार विधायक के लिए भोजन भी बनाते थे। लेकिन मंगलवार को कोर्ट से सजा सुनाए जाने के बाद वह सजाएफ्ता कैदी हो गए हैं। ऐसे में जेल प्रशासन ने उन्हें दी जानेवाली सुविधायों में कटौती कर दी है। सेवादारों के हटने के बाद खुद भोजन बनवाने की व्यवस्था खत्म कर दी गयी है। हालांकि उनकी सुरक्षा को देखते हुए किसी प्रकार का बदलाव नहीं किया गया है और वह फिलहाल वह पूर्व की तरह ही उच्च स्तरीय सेल में ही बंद है.

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के बाहुबली विधायक अनंत सिंह को AK-47 केस में एमपी-एमएलए कोर्ट ने 10 साल जेल की सजा सुनाई है . बिहार छोटे सरकार यानी मोकामा से आरजेडी के विधायक अनंत सिंह को एमपी-एमएलए कोर्ट ने 14 जून को ही दोषी करार दिया था. अनंत सिंह के खिलाफ केस में कोर्ट ने अब सजा का भी ऐलान कर दिया है. एमपी-एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश त्रिलोकी दुबे ने अनंत सिंह को 10 साल कैद की सजा का ऐलान किया.

बता दें कि राजद विधायक के बाढ़ के नदवां स्थित उनके घर से एके 47 राइफल, हैंड ग्रेनेड की बरामदगी हुई थी। जिसमें मंगलवार को कोर्ट ने उन्हें दस साल की सजा सुनाई थी। इसके साथ ही अब उनके विधायक पद के भी छीने जाने की संभावना है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button