Breaking News

औवेसी की पार्टी में हुई बड़ी टूट, राजद में शामिल हुए 5 में से 4 विधायक

बिहार के राजनीतिक गलियारे से बड़ी खबर सामने आयी हैं जहां राजद सबसे बड़ी पार्टी बन गयी है। AIMIM के 5 में 4 विधायक राजद में शामिल हो गये हैं। बिहार में ओवैसी की पार्टी AIMIM में टूट हो गयी है। 5 में से 4 विधायक आरजेडी में शामिल हो गये है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आज खुद कार चलाकर बिहार विधानसभा पहुंचे थे। बताया जा रहा है एआईएमआईएम के चारों विधायकों को लेकर तेजस्वी विधानसभा पहुंचे थे। AIMIM के 5 में से 4 विधायक मो. शाहनवाज, मो. इजहार आसफी, सैयद रूकमुद्दीन और मो. अनजार नईमी अब आरजेडी में शामिल हो गये हैं। राजद में शामिल होने के बाद अब ओवैसी के चारों विधायक राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव से मिलेंगे।

ओवैसी के 5 में 4 विधायकों के आरजेडी में शामिल होने के बाद आरजेडी के विधायकों की संख्या अब 80 हो गयी है। बिहार में आरजेडी अब सबसे बड़ी पार्टी बन गयी है। पहले 77 विधायकों के साथ बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी थी अब आरजेडी सबसे सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई है। बिहार विधानसभा अध्यक्ष से मिलने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि हमने विलय करा लिया है। तेजस्वी यादव ने मीडिया से कहा कि 10 नंबर में आईए बैठकर इस संबंध में बात करते हैं।

बता दें कि कोचाधामन विधायक मुहम्मद इजहर आसफी, जोकीहाट से शाहनवाज आलम, बायसी से सैय्यद रुकनुद्दीन और बहादुरगंज से अजहर नईमी अब आरजेडी में शामिल हो गये हैं। जबकि ओवैसी के पांचवे विधायक अख्तरुल इमाम अभी भी एआईएमआईएम में हैं.

बिहार विधानसभा में 5 विधायकों के साथ अपनी मौजूदगी का एहसास कराने वाली ओवैसी की पार्टी AIMIM के विधायक टूट गये हैं। इसके साथ ही फर्स्ट बिहार की खबर पर एक बार फिर से मुहर लगी है। फर्स्ट बिहार ने पिछले दिनों बताया था कि ओवैसी के विधायकों पर लगातार दूसरे दल की नजर बनी हुई है और कम से कम चार विधायक पाला बदल सकते हैं.

अख्तरुल इमान ने कहा था कि उन्हें अपने विधायकों पर भरोसा तो है लेकिन इसके बावजूद अगर कोई गलती करता है तो आगे आने वाले दिनों में बिहार की सेक्युलर जनता उसे माफ नहीं करेगी। अख्तरुल इमान ने कहा था कि कोई भी सेक्युलर पार्टी AIMIM को नहीं तोड़ेगी। हमारे विधायकों को तोड़ने का मतलब यह हुआ कि आप सांप्रदायिक ताकतों को मजबूत करना चाहते हैं। अगर राष्ट्रीय जनता दल ओवैसी के 4 विधायकों को अपने साथ लाने में कामयाब हो जाता है तो एक बार फिर बिहार विधानसभा में वह सबसे बड़े दल के तौर पर मान्यता हासिल कर लेगा। फिलहाल बीजेपी विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button