Breaking News

BPSC पेपर लीक कांड में EOU का सबसे बड़ा एक्शन, DSP को किया गिरफ्तार, खुलेंगे कई अहम राज

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) पेपर लीक कांड में अब तक का सबसे बड़ा एक्शन हुआ है. पेपर लीक की जांच कर रही आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बिहार पुलिस के एक डीएसपी को हिरासत में लिया है. ईओयू को इस डीएसपी के खिलाफ अहम सबूत मिले हैं. ईओयू के मुताबिक डीएसपी रंजीत रजक बीपीएससी पेपर लीक गिरोह से जुड़े सदस्यों के लगातार संपर्क में थे. पेपर लीक मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपितों के साथ फरार आरोपितों से उनकी बातचीत के साक्ष्य ईओयू को मिले हैं. दरअसल BPSC पेपर लीक मामले में इसके पहले 16 अभियुक्त जेल जा चुके हैं, जिसमें आधा दर्जन से अधिक सरकारी पदाधिकारी शामिल हैं.

ईओयू के सूत्रों की मानें तो बीपीएससी पेपर लीक होने से पहले और उसके बाद भी डीएसपी रंजीत रजक के लगातार संदिग्धों व आरोपितों से संपर्क में होने की जानकारी जांच टीम को मिली. इसके बाद ईओयू ने उन्हें हिरासत में ले लिया है. इस साल मई में परीक्षा के दिन ही बीपीएससी की 67वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा पेपर लीक होने के बाद रद कर दी गई थी. डीएसपी अभी बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस में तैनात हैं. जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि साल 2012 में एसएससी की परीक्षा में धांधली हुई थी और उसमें भी इसका नाम सामने आया था. हालांकि उस समय वह बिहार पुलिस सेवा में नहीं थे. इस मामले में डीएसपी पर उस समय नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई थी. सबसे बड़ा सवाल तो यह है कि नामजद प्राथमिकी के बावजूद भी यह डीएसपी बन गया.

बता दें कि बिहार में बीते 8 मई को बीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की गई थी. पेपर लीक के बाद इस परीक्षा को रद्द कर दिया गया था. आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) की टीम को इसकी जांच का जिम्मा सौंपा गया है. पेपर लीक की जांच कर रही आर्थिक अपराध इकाई इसके पहले भी कई अफसरों को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि कई अब भी रडार पर हैं. इस मामले में बड़हरा बीडीओ जयवद्र्धन गुप्ता, राजस्व पदाधिकारी राहुल कुमार, डेल्हा स्थित रामशरण सिंह कालेज के प्राचार्य शक्ति कुमार, कुंवर सिंह कालेज के प्राचार्य डा. योगेंद्र प्रसाद सिंह, प्रोफसर सुनील कुमार सिंह, सहायक केंद्राधीक्षक अगम कुमार, कृषि विभाग में सहायक राजेश कुमार समेत कई सरकारी पदाधिकारी गिरफ्तार किए गए हैं और ये सब अभी जेल में हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button